Photo Gallery

Contact Us
कुलगीत

यह महाराणा प्रतापाख्यावती, शिक्षा-परिषद ज्ञान की मन्दाकिनी।।
नाथ-मन्दिर की अखण्ड-ज्योति से प्रज्जवलित यह भारती की आरती।
यह भगीरथ से व्रती व्यक्तित्व की दिग्विजय की यशो-गाथा पावनी।।
यह महाराणा प्रतापाख्यावती, शिक्षा-परिषद ज्ञान की मन्दाकिनी।।

सिद्ध गुरू गोरक्ष की विज्ञान-भू में बुद्ध, वीर, कबीर की निर्वाण-भू में।
ज्ञान की धात्री, चरित्र-विधान की, राप्ती-तट पर प्रकट विद्या-वनी।।
यह महाराणा प्रतापाख्यावती, शिक्षा-परिषद ज्ञान की मन्दाकिनी।।

हों प्रताप समान फिर युवजन कृती, देशभक्त, स्वधर्म-निष्ठ, कुलव्रती।
इसलिए सारस्वतानुष्ठान यह, शैक्षणिक जागर्ति की कादम्बिनी।।
यह महाराणा प्रतापाख्यावती, शिक्षा-परिषद ज्ञान की मन्दाकिनी।।